याद किया गया: जन्मदिन पर श्वेत क्रांति के पिता डॉक्टर वर्गीज कुरियन को सोशल मीडिया पर याद किया गया

याद किया गया: जन्मदिन पर श्वेत क्रांति के पिता डॉक्टर वर्गीज कुरियन को सोशल मीडिया पर याद किया गया

डॉ वर्गीज कुरियन: भारत में श्वेत क्रांति के जनक डॉ. वर्गीज कुरियन का आज जन्मदिन है. उन्होंने दूध की कमी से जूझ रहे देश भारत को सबसे अधिक उत्पाद करने वाला देश बनाने में अहम भूमिका निभाई है. उनका जन्म केरल के कोझिकोड में 26 नवंबर 1921 को हुआ था. उनके जन्मदिन को नेशनल मिल्क डे के रूप में मनाया जाता है. इसकी शुरुआत साल 2014 में की गई थी. आज डॉक्टर वर्गीज कुरियन के जन्मदिन के मौके पर सोशल मीडिया पर बधाइयां दी गईं. इनमें नेता भी शामिल रहे.

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने लिखा कि भारतीय श्वेत क्रांति के जनक पद्म विभूषण वर्गीज कुरियन जी को जयंती पर विनम्र अभिवादन.

The milkman of India : श्वेत क्रांति के जनक डॉ. वर्गीज कूरियन का जन्मदिन आज, सोशल मीडिया पर किए गए याद

वहीं गोवा के सीएम डॉ. प्रमोद सावंत ने लिखा कि भारत में श्वेत क्रांति के जनक डॉ. वर्गीज कुरियन को उनकी जयंती पर नमन.

The milkman of India : श्वेत क्रांति के जनक डॉ. वर्गीज कूरियन का जन्मदिन आज, सोशल मीडिया पर किए गए याद

बता दें कि डॉ. कुरियन ने भारत में श्वेत क्रांति लाने के साथ ही ‘ऑपरेशन फ्लड’ कार्यक्रम की भी शुरुआत की. उनके नेतृत्व में, कई महत्वपूर्ण संस्थानों की स्थापना की गई, जिसमें गुजरात कोऑपरेटिव मिल्क मार्केटिंग फेडरेशन लिमिटेड (GCMMF) और नेशनल डेयरी डेवलपमेंट बोर्ड (NDDB) शामिल है. इन संस्थानों ने देशभर में डेयरी कोऑपरेटिव मूवमेंट को आकार देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई और पूरे देश में आनंद मॉडल की कोऑपरेटिव डेयरी का प्रचार किया.

डॉ. कुरियन हमेशा खुद को किसानों के लिए काम करने वाला एक कर्मचारी मानते थे. पचास से अधिक वर्षों की अपनी सेवा में उन्होंने दुनिया के विभिन्न संस्थानों से 15 उपाधियां प्राप्त कीं. डॉ. कुरियन का मानना था कि सीखना कभी बंद नहीं होना चाहिए. डॉ. कुरियन को उनके महान कार्यो के लिए कई पुरस्कार मिले. इसमें सामुदायिक नेतृत्‍व के लिए रोमन मेग्‍सेसे पुरस्‍कार, पद्मश्री पुरस्‍कार, पद्म भूषण पुरस्‍कार, कृषि रत्‍न पुरस्‍कार, वाटेलर शांति पुरस्‍कार, कार्नेगी फाउंडेशन पुरस्‍कार, विश्‍व खाद्य पुरस्‍कार विजेता, विश्‍व डेरीएक्‍सपो, मेडिशन, विस्‍कॉन्सिन, यूएसए द्वारा अंतरराष्‍ट्रीय ख्‍याति प्राप्‍त व्‍यक्ति का सम्‍मान तथा पद्म विभूषण शामिल है.

ये भी पढ़ें

Stock Markets Crash: कोरोना के नए वेरिएंट से सहमे बाजार, निवेशकों के लाखों करोड़ स्वाहा

Farmers Protest One Year: किसान आंदोलन के एक साल होने पर राकेश टिकैत बोले- अभी जारी रहेगा आंदोलन, आगे का प्लान बताया

.

Source